Friday, September 9, 2011

नूर-ए-अख्लाहत

नूर-ए-अख्लाहत से, वजह न पूछो देर से आने की,
आकर उन्होंने बात तो रख ली, मेरे बुलाने की,


.

No comments:

Post a Comment