Thursday, September 22, 2011

दिल छुपा

निगाह-ओ-इसखरत से,
दिल छुपा लेता हूँ,
नज़र न लड़ता किसी से,
अंजुमन ताड़ लेता हूँ,


.

No comments:

Post a Comment