Friday, September 30, 2011

उन्होंने गम

उन्होंने गम दिया,
तन्हाई भी दी,
क्या करें अब हम,
मोहब्बत हमने ही की,


.

No comments:

Post a Comment