Sunday, September 25, 2011

नसीब होता

जीना किसी-किसी को नसीब होता है, किसी की बाहों में,
कोई घुट-घुट कर जीता है, जिन्दगी की राहों में,


.

No comments:

Post a Comment