Sunday, September 25, 2011

दीदार न

दीदार न हो सकें, हुश्न की शहजादियों के,
तभी तो बादशाहों ने दीवारें बनाई हैं,


.

No comments:

Post a Comment