Wednesday, September 14, 2011

हुस्न कुछ

तू हुस्न कुछ, सफालियत से कहता है,
तेरी रूह कुछ कहती है, तेरा जिस्म कुछ कहता है,


.

No comments:

Post a Comment