Tuesday, September 27, 2011

चलो अहसास

चलो अहसास-ओ-उल्फत तो हुयी,
उनके दिल में कुछ हरकत तो हुयी,
नज़रों से कुछ कहानी बयाँ तो हुयी,
यूँ मुलाक़ात की कुछ आस तो हुयी,


.

No comments:

Post a Comment