Wednesday, September 14, 2011

उसने देखा

उसने देखा, दूर से, तिरछी निगाहें करके,
पहचानने की कोशिश की, जोर दे करके,
यूँ ही घबडाहट में सुकून, दिल का छिन गया,
बात बन भी न पायी, पूरा दिन निकल गया,




.

No comments:

Post a Comment