Friday, September 9, 2011

हमसफ़र हैं

हमसफ़र हैं अब,
ठुकराए हुए दीवाने,
कोई कुछ न कहता है,
सब के सब परवाने,


.

No comments:

Post a Comment