Tuesday, October 4, 2011

अब तो तुमसे

अब तो तुमसे,
यूँ ही गुफ्तगू होगी,
पता न चलेगा,
दिन कब कटेगा,
रात कब होगी,


.

No comments:

Post a Comment