Sunday, October 9, 2011

कहे, आंसुओं ने

कहे,
आंसुओं ने,
किस्से,
हम तो,
चुप ही,
रहते हैं,

उस
बेवफा की,
याद में,
कमबख्त,
बहते ही,
रहते हैं,


.

No comments:

Post a Comment