Tuesday, October 11, 2011

इश्क-ओ

इश्क-ओ-हालात ज़िबरत की खूबी,
हर माशूक को ले जाती है,
कोई कितना ही बचने जाए,
मोहब्बत सबको बहा ले जाती है,

.

No comments:

Post a Comment