Sunday, October 9, 2011

माकूल-ए-हालत

माकूल-ए-हालत,
बहुत बेदर्दी से गुज़र जाते हैं,
वो करीब आते-आते,
बहुत दूर से गुज़र जाते हैं,


.

No comments:

Post a Comment