Saturday, October 15, 2011

कहने की

कहने की बात, जुबाँ से क्या कहें,
दिल में रखें, आखें सब बयाँ करें,


.

No comments:

Post a Comment