Sunday, October 9, 2011

अब तो

अब तो इन तन्हाईओं,
में भी मज़ा आने लगा है,
अकेलेपन के इन लम्हों,
में भी मज़ा आने लगा है,

.



No comments:

Post a Comment