Thursday, October 6, 2011

इन अँधेरे

इन अँधेरे पलों को उजाले से भर दूँ,
चन्द यादें तेरी जहन में ताज़ा कर लूँ,


.

No comments:

Post a Comment