Friday, October 7, 2011

हमसे तन्हाई

हमसे तन्हाई में,
मिला तो करो,
गुफ्तगू-ए-आलम,
कुछ करा करो,


.

No comments:

Post a Comment