Monday, August 22, 2011

अब समझदारों

अब समझदारों की दुनिया है,
न अब दिलदारों की दुनिया है,
हर काम अब हिसाब से होता है,
दिल की जगह अक्ल से काम होता है,


.

No comments:

Post a Comment