Thursday, August 25, 2011

तमन्नाओं का

तमन्नाओं का सागर, बहुत बड़ा है |
यूँ दिल मेरा उससे भी बहुत बड़ा है |
पर मजबूरी भी एक चीज़ होती है |
वो किसी को न कुछ करने देती है |

.

No comments:

Post a Comment