Monday, August 22, 2011

सितारों की

सितारों की आज़माइश, उजाले में क्यूँ करते हो,
रौशनी चली जाने दो,
अँधेरा हो जाने दो,
बदल छंट जाने दो,
आमवश को आने दो,
तब सितारों को चमकते देखकर, नज़रें क्यूँ फेरते हो,


.

No comments:

Post a Comment