Thursday, July 7, 2011

बाज़िबे हुश्न

बाज़िबे हुश्न, तेरा ख्याल, जबसे दिल में आया |
बेकरारी का आलम वो, अपने साथ में लाया |

No comments:

Post a Comment