Saturday, July 30, 2011

दिखाओ हुश्न

ऐसे न दिखाओ हुश्न यूँ बरबाद ये जहाँ होता है |
तेरे चाहने वालों का आखिरी हस्र यहाँ होगा है |


.

No comments:

Post a Comment