Thursday, July 7, 2011

हर शक्श

हर शक्श मोहब्बत में मारा जाता है |
हर शक्श मोहब्बत को न पा पाता है |

No comments:

Post a Comment