Saturday, July 2, 2011

तेरे दीवाने

तेरे दीवाने हैं, हर वक्त बेगाने हैं |
दूर ही सही, पर तेरे परवाने हैं |
शमाँ तू है, जल्दी है बहुत दूर |
फैलती हैं रोशनी, तेरे नूर की बहुत दूर |

No comments:

Post a Comment