Saturday, July 2, 2011

वाह वाह !

वाह वाह ! ताबे हयात लग रही हो |
इस लिबाश में भी, नूर-ए-हयात लग रही हो |

No comments:

Post a Comment