Wednesday, July 6, 2011

सुलह तो

वक्त अब आ गया, सुलह तो अब करले |

अब न मिलूंगा इस जहाँ में, कुछ बोझ तो हल्का करदे |
जा रहां हूँ, होकर बेजार इस जहाँ से, कुछ तो मेहरबाँ करदे |

बस कुछ लम्हों की हैं सासें, बस कुछ पल के हैं पल |
गर याद अगर आ जाएँ, कुछ भूले-बिसरे हुए पल |

न जाने अब कोन बेदार होगा, न जाने अब कोन तलब्दार होगा |
अगला मकाँ कोन-सा होगा, अगला जहाँ कोन-सा होगा |

बर बस जिन्दगी का आखिरी मक़ाम आ गया |
अब न रुक सकेंगे, खुदा का पैगाम आ गया |

जा रहा हूँ अब, सौदाई माफ़ न करना |
मुजरिम हूँ तेरी सजा का, इसे याद रखना |

आखें खुली रहेंगी, गर तू आयेगी |
तस्वीर उसमें तेरी, उतर आयेगी |

जनाज़े में तू आ सकती नहीं |
अब आजा फिर मिल सकती नहीं |
ज़माने की नज़र तुझ पर पड़ेगी |
पर ये बात किसी को पता न पड़ेगी |

पैगाम तुझे दिल से भेजा है |
मिल गया तुझे जवाब आया है |
अब देर न कर, चली आ बेखबर |
ज़माने से न डर, ले ले मेरी खबर |

आखरी दुआ सलाम तो कर लूँगा |
प्यार का आखरी दीदार कर लूँगा |
मर सकूंगा मैं चैन से |
देख लूँगा जब नैन से |

Vakt Ab Aa Gaya, Sulah To Kar Le,

Ab Na Miloonga Is Jahaan Mein, Kuch Bojh To Halka Kar De,
Ja Raha Hoon Hokar Bezar Is Jahaan Se, Kuch To Meharbaan Kar De,

Bas Kuch Lamhon Ki Hain Saansen, Bas Kuch Pal Ke Hain Pal,
Gar Yaad Agar Aa Jaayein, Kuch Bhoole Bisre Hue Pal,

Na Jaane Ab Kaun Bedaar Hoga, Na Jaane Ab Kaun Talabdaar Hoga,
Agla Makaan Kaun Sa Hoga, Agla Jahaan Kaun Sa Hoga,

Bas Bas Jindgi Ka Akhri Makaam Aa Gaya,
Ab Na Ruk Sakenge, Khuda Ka Paigaam Aa Gaya,

Jaa Raha Hoon Ab, Saudai Maaf Na Karna,
Muzrim Hoon Teri Saza Ka, Mujhe Yaad Rakhna,

Aankhen Khuli Rahengi, Gar Tu Aayegee,
Tasveer Usme Teri Utar Aayegee,

Janaze Mein Tu Aa Sakti Naheen,
Ab Aaza Fir Mil Sakti Naheen,
Jamaane Ki Nazar Tujh Par Padegee,
Par Ye Baat Kisi Ko Pata Na Padegee,

Paigaam Tujhe Dil Se Bheja Hai,
Mil Gaya Tujhe Jawab Aaya Hai,
Ab Der Na Kar, Chali Aa Bekhabar,
Jamane Se Na Dar, Le Le Meri Khabar,

Aakhri Dua Salam To Kar Loonga,
Pyar Ka Akhri Deedar Kar Loonga,
Mar Sakoonga Mein Chain Se,
Dekh Loonga Jab Nain Se,


.


1 comment:

  1. आंखों ने पैगाम भेजा है....मुराद जरूर पूरी होगी....
    अच्छे भाव....

    ReplyDelete