Wednesday, July 6, 2011

कितना इंतज़ार

कितना इंतज़ार कराया |
कितना बेज़ार कराया |
अब तो कुछ होने दो |
अब तो कुछ खोने दो |

No comments:

Post a Comment