Wednesday, July 6, 2011

तरसती हैं आखें

तरसती हैं आखें, तसरता है आलम |
बरसती हैं निगाहें, बरसता है बालम |
दरकती हैं सासें, दरकता है सालम |
फरकती हैं बाहें, फरकता है जालम |

No comments:

Post a Comment