Friday, July 8, 2011

है तो इसके

है तो इसके दिल में कुछ और |
जता रही है सबको कुछ और |
बात तो जरुर है कुछ और |
बता राही है कुछ और |

No comments:

Post a Comment