Thursday, July 7, 2011

नज़र करूँ

नज़र करूँ एक तेरे, मोहब्बत का नजराना |
ले लेना, देख तू इस तरह न इसको ठुकराना |

No comments:

Post a Comment