Sunday, July 10, 2011

मौत दबे

मौत दबे पाओं आती है, गम देकर जाती है |
जिन्दगी तो खुशहाली लाती है, खुश देकर ठहर जाती है |

No comments:

Post a Comment