Sunday, July 10, 2011

हर सीने

हर सीने में दिल होता है |
हर जिस्म में जान होती है |
कोई इसे जीने में खोता है |
कोई इसे पीने में खोता है |

No comments:

Post a Comment