Friday, July 8, 2011

एक-एक

एक-एक लम्हा गुज़ार रहा हूँ |
तेरी याद के सहारे जी रहा हूँ |

No comments:

Post a Comment