Saturday, November 12, 2011

पी गया गम

पी गया गम को,
जी गया उसी से,
पानी तक न छुआ,
आंसुओं को जो पिया,

.

No comments:

Post a Comment