Wednesday, April 6, 2011

मातम

मातम न मना,
ओ प्यार मेरे,
देख अभी मैं जिन्दा हूँ,
रुखसत न हुआ,
अभी जनाजा मेरा,
इंतज़ार है,
तेरी वफ़ा का मुझे,

.

No comments:

Post a Comment