Friday, April 22, 2011

जन्नतें खुदा

जन्नतें खुदा की मिलती होंगी किसी खुशनसीब को |
हमें तो बस यह जहान मिल जाए इस बदनसीब को |

No comments:

Post a Comment