Friday, April 22, 2011

बस देख

रक्खा है हुस्न ज़माने की नज़र बचाकर |
बस देख ले जरा सी नज़र उठाकर |
अंजुमन मेरा कह रहा है |
तू बस मेरा है मेरा है मेरा है |

No comments:

Post a Comment