Wednesday, June 29, 2011

मजार पे

मजार पे मेरी, फूल मोहब्बत के, चड़ा देना |
प्यार किया है मुझसे, एक बार, चली आना |
आंसू न रोना, दिल अपना न खोना |
देखकर कबर मेरी, बिलकुल न रोना |

No comments:

Post a Comment